शनिवार, 20 मार्च 2010

गांधीजी तुम्हारे तीन बन्दर.............!


गांधीजी तुम्हारे तीन बन्दर
पहला-------> बीमार है!
दूसरा--------> लाचार है!
तीसरा--------> बेरोजगार है!
ओ बापू! तुम्ही बताओ
क्या तुम्हारे स्वप्निल रामराज्य का भारी बोझ
इन दुर्बल कहारों के कन्धों पर टिक पायेगा!
एक टिप्पणी भेजें

20150927 0001